झाँसी की प्राचीन परंपरा पर भारी पड़ा कोरोना:रिपोर्ट-=आयुष साहू

0
102
????????????????????????????????????

झांसी। कोरोना वायरस का प्रकोप चारों ओर से भयावही मचाये हुए हैं। चाहे व्यापार होे, चाहे भगवान का मंदिर हर तरफ भय का दौर और सन्नाटा पसरा हुआ है। कोरोना के प्रकोप से वचाब के लिए सरकार ने पूरे देश को लाॅकडाउन कर दिया है। जिसके लिए स्थानीय प्रशासन ने कमर कस ली है। नगर में वर्षों पुरानी प्राचीन परम्परा कोरोना के चलते टूट गयी। वर्ष में प्रत्येक नवरात्रि पर प्राचीन पचकुईयां मंदिर पर लगने वाला मेला इस चैत्र मास की नवरात्रि को नहीं लग सका। जिससे भक्तों तथा दर्शनार्थियों में रोष व्याप्त हैं। तो वहीं प्रशासन सभी से घरों में रहकर प्राकृतिक आपदा से बचाव करने की अपील कर रहा है।
वर्ष के प्रत्येक नवरात्रि पर्व पर नगर के प्राचीन पचकुईयां मंदिर पर मेले का आयोजन किया जाता हैं। 25 मार्च से चैत्र नवरात्रि का प्रारम्भ हो गया। लेकिन इस वर्ष कोरोना आपदा के चलते प्रशासन ने प्राचीन मेले के आयोजन की अनुमति नहीं दी। मंदिर समिति द्वारा मंदिर का मुख्य द्वार बन्द कर दिया गया व सभी से अपने घरों में रहकर प्राकृतिक आपदा के लिए प्रार्थना की अपील की गयी। तो वहीं के पास पुलिस बल को तैनात कर दिया गया हैं। जो भक्तों से घरों रहने को कह रहा है। बुधवार को चैत्र नवरात्रि प्रारम्भ होने पर सुबह से भक्तों ने मंदिर पहुंचना शुरू कर दिया। लेकिन बाहर बैठे पुलिस बल ने उन्हे मंदिर के बाहर से ही लौटा दिया और घर में रहकर पूजा अर्चना करने की अपील की

रिपोर्ट-आयुष साहू