जानवर को बचाने वाले मेजर को गमगीन आंखों से दी विदाई:रिपोर्ट-=आयुष साहू

0
92

झांसी। जम्मू कश्मीर में आग की लपटों से घिरकर वीरगति को प्राप्त हुए बिजौली निवासी मेजर का मंगलवार को शव उनके घर पहुंचा। जहां सेना के अफसरों ने पूरे राजकीय सम्मान के साथ उन्हें अंमिम विदाई। सेना के इस वीरजवान को अंमित विदाई देने के लिए जनसैलाब शमशान घाट पहुंचा।
आपको बताते चलें कि झांसी के बिजौली निवासी अंकित बुद्वराज उत्तरी कश्मीर के वारामूला जिले के गुलमर्ग इलाके में तैनात थे। जहां उनकी हट में किन्हीं कारणों के चलतेे आग लग गई थी। आग की लपटों के बीच फंसी पत्नी व पालतू कुत्तों को बचाने में तो अंकित कामयाब हो गये। लेकिन खुद आग की लपटों से बुरी तरह झुलस गये। जिससे उनकी मौके पर मौत हो गयी थी। मंगलवार को अंकित का पार्थिव शरीर उनके घर बिजौली पहुंचा। जहां सैन्य सम्मान के साथ अंकित के पार्थिव शरीर को गार्ड आॅफ आॅनर दिया गया। जिसमें जिला सैनिक कल्याण कार्यालय के सभी कर्मचारियों की उपस्थिति में नायब सूबेदार संजय कुमार शुक्ला ने रीत अर्पित कर श्रद्वांजलि अर्पित की। वहीं विशाल जनसैलाब ने मेजर को गमगीन आंखों से अंतिम विदाई दी।

 

रिपोर्ट-=आयुष साहू