झाँसी में डिजिटल रूप से हो रहे थे यूपी बोर्ड परीक्षा के पेपर लीक, पांच गिरफ्तार:रिपोर्ट-=आयुष साहू

0
148
????????????????????????????????????

झांसी। यूपी बोर्ड की इंटरमीडिएट की परीक्षा में अंग्रेजी का पेपर शोसल मीडिया के माध्यम से लीक करने वाले दो छात्र समेत तीन युवकों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उनके पास से सैकड़ों प्रश्न पत्र बरामद किए है। पकड़े गए तीन आरोपी सॉल्वर गैंग के सदस्य बताए जा रहे है।
आईजी सुभाष सिंह बघेल ने जानकारी देते हुए बताया कि जनपद में बोर्ड परीक्षाओं को शुचितापूर्ण तरीके से सम्पन्न कराने के लिए एसएसपी द्वारा स्थानीय पुलिस, एसओजी, एलआईयू आदि टीमों को साॅल्वर गैंग, नकल माफियाओं पर नजर रखने व उनकी सूचनाओं को इकटठा करने के लिए निर्देशित किया था। जिसके क्रम में एसपी सिटी राहुल श्रीवास्तव, सीओ संग्राम सिंह, एएसपी सादमियां खान के नेतृत्व में दो टीमों का गठन किया गया। जो परीक्षा केन्द्रों पर गोपनीय तरीके से निगरानी कर रही थी। 2़6 फरवरी को स्वाट टीम प्रभारी शैलेन्द्र सिंह को कुछ साल्वर गैंग की सक्रियता का मालूम चला जो शोसल मीडिया केे माध्यम से बोर्ड परीक्षा के प्रश्नपत्र लीक कर रहे थे। सूचना पर हरकत में आई पुलिस ने अपनी कार्यवाही को शुरू कर दिया और प्रेमनगर थाना क्षेत्र मे स्थित एक स्कूल में प्रश्नपत्र से सम्बन्धित सूचनाओं का सुराग मिला। सुराग के आधार पर पुलिस ने उक्त स्कूल पर पहुंचकर इण्टर की परीक्षा देने के बाद बाहर निकले दो संदिग्ध छात्रों से पूछताछ की व तालाशी लेने पर उनके बैग में से कुछ साॅल्वड पेपर बरामद किये। पुलिस ने जब इन साॅल्वछ पेपर्स का मिलान किया तो परीक्षा में आये प्रश्न पत्र में से 60 प्रतिशत प्र्रश्नोत्तर हूबहू मिले। एक छात्र के मोबाइल को चैक किया गया तो वह किसी अन्य व्यक्ति से परीक्षा के पेपर के सम्बन्ध में बात करते हुए पाया गया। पुलिस द्वारा गहराई से पूछताछ करने पर बताया कि मिशन कम्पाउन्ड निवासी राज गुप्ता से उन्हें यह प्रश्नपत्र व साॅल्वड पेपर प्राप्त हुए। पुलिस ने जब राज गुप्ता को गिरफ्तार किया तो उसने प्रश्नपत्र को आदान-प्रदान करने की बात स्वीकार ली और राम अवतार व अभय के नामों को उगला। पुलिस टीमों ने कई स्थानों पर दविश देकर करारी निवासी राम अवतार व सीपी मिशन कम्पाउण्ड निवासी अभय को गिरफ्तार कर लिया। दोनों से गहराई से पूछताछ करने व उनकेे मोबाइलों को चैक करने पर ज्ञात हुआ कि रामअवतार को कुछ अन्य व्यक्तियों से हाइक मैसेंजर के माध्यम से प्राप्त होते हैं। जिन्हें जिले में कुछ चिन्हित छात्रों को बांटे जाते हैं। रामअवतार के पास से पुलिस ने कुछ साॅल्वड पेपर बरामद किये जिसका मिलान करने पर उक्त साॅल्वड पेपर परीक्षा प्रश्नपत्रों से पूरी तरह मिलते पाये गये। रामअवतार ने पूछताछ के दौरान कुछ नकल माफियाओं व गैंग्स के नाम उगले हैं। जिनकी गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे हैं। आईजी ने बताया कि विभिन्न स्थानों पर दबिश दी जा रहीं हैं और जल्द ही पूरे गैंग का खुलासा किया जायेगा। पुलिस ने आरोपियों के पास से एक लैपटाॅप, एक पैनड्राइव, चार मोबाइल समेत तीन बंडल परीक्षा सम्बन्धी प्रपत्र बरामद किये हैं। आईजी झांसी परिक्षेत्र ने सराहनीय कार्य करने वाली टीम को पचास हजार रूपये का पुरूस्कार व एसपी सिटी, सीओ सिटी, एएसपी को प्रशस्ति पत्र देने की घोषणा की है।

 

रिपोर्ट-=आयुष साहू