बदले की भावना ने करवाई राजेश की हत्या:रिपोर्ट-=आयुष साहू

0
63

झाँसी। हत्या के आरोप में फरार चल रहे दो शातिर इनामियाँ बदमाशों को जनपद की स्वाट तथा टहरौली पुलिस ने संयुक्त रूप से गिरफ्तार किया है।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा. ओ.पी. सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि वर्ष 2001 में मुख्य आरोपी चरण सिंह पटेल का मृतक राजेश उर्फ पप्पू पटेल से विवाद हुआ। इस मामले में चरण सिंह पटेल के खिलाफ टहरौली में मुकदमा दर्ज किया गया। बाद में चरण सिंह व राजेश का आपसी समझौता हो गया। परन्तु चरण सिंह अन्दर ही अन्दर बदले की भावना खत्म नही हुई और 3 अप्रैल 2019 को ग्राम बघैरा थाना टहरौली निवासी राजेश उर्फ पप्पू पटेल की हत्या की योजना बनाई। योजना के तहत आरोपी दीनदयाल उर्फ माते निवासी बघैरा टहरौली, रवेन्द्र उर्फ रब्बू निवासी मोहरा जतारा टीकमगढ़, रहीश, उदय, धर्मदासपाल निवासीगण बैदपुर जतारा टीकमगढ़ व जाहर घोष निवासी मऊ बुजुर्ग दिगौड़ा टीकमगढ़ के साथ मिलकर मान सिंह घोष व दीपेश घोष निवासीगण बैदपुर थाना जतारा जिला टीकमगढ़ व चरण सिंह पटेल ने समझौता की बात कहकर राजेश उर्फ पप्पू को बुलाया और पेय पदार्थ में नींद की गोलियां मिलाकर पिला दी। जिससे वह अपना होश खो बैठा। इसके बाद रस्सी से गला घोंटकर उसकी निर्मम हत्या कर दी। हत्यारों ने पहचान छिपाने के लिए पेट्रोल डालकर आग लगा दी तथा कुल्हाड़ी से दोनों पैरों को घुटने से काटकर शव को परेवाहार फूटन जंगल थाना बल्देवगढ़ में गढ्ढा खोदकर दफना दिया।
इस हत्याकाण्ड में हत्यारोपी मान सिंह घोष व दीपेश घोष निवासीगण बैदपुर थाना जतारा जिला टीकमगढ़ फरार चल रहे थे। जिनके ऊपर 25-25 हजार का ईनाम घोषित था। मुखबिर से मिली सूचना पर टहरौली पुलिस व स्वाट टीम ने संयुक्त रूप से कार्यवाही करते हुए दोनों ईनामियां हत्यारोपियों को ग्राम बैदपुर के बाहर खेत में बने कुआं के पास से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने दोनों शातिरों की निशानदेही पर वारदात में प्रयुक्त कुल्हाड़ी व दो तसला बरामद कर लिए।

 

रिपोर्ट-=आयुष साहू