14 जुलाई, शनिवार को भगवान धूमधाम से निकलेगी भगवान जगन्नाथ की विशाल रथयात्रा

0
51

14 जुलाई, शनिवार को भगवान धूमधाम से निकलेगी भगवान जगन्नाथ की विशाल रथयात्रा

-इस्कान भक्तों के सानिध्य में हरिनाम संकीर्तन भगवान श्री जगन्नाथ स्वामी के दर्शन एवं रथ का मिलेगा दिव्य अवसर
झांसी । श्री श्री 1008 भगवान जगन्नाथ स्वामी जी की भव्य रथयात्रा का आयोजन विगत वषों की तरह इस बार भी 14 जुलाई, शनिवार को भगवान के प्रिय भक्तों द्वारा किया जा रहा है। यात्रा में भगवान अपने भक्तों को मनमोहक दर्शन देगे । वहीं इस्कान भक्तों के सानिध्य में हरिनाम संकीर्तन भगवान श्री जगन्नाथ स्वामी के दर्शन एवं रथ का दिव्य अवसर भी नगरवासियों को प्राप्त होगा।

श्री श्री 1008 भगवान जगन्नाथ स्वामी मंदिर सेवा समिति झांसी, के तत्वावधान में होने जा रहे इस कार्यक्रम की विस्त‌‌ृत जानकारी देते हुये समिति सदस्यों ने सयुंक्त रूप से बताया कि कार्यक्रम की सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गयी है। यात्रा गोपाल नीखरा से प्रारंभ होकर आर्यसमाज मंदिर, गंधीगर का टपरा, सर्रा बाजार , मानिक चौक, डाकघर, मालिनों का चौराहा, बडाबाजार, मुरली मनोहर मंदिर, सुभाष गंज,रानीमहल, सिंधी तिराहा, कोतवाली की ढाल, गहोई धमशाला, गंधीगर का टपरा, साईं का ताकिया, पुरानी नझाइ होती हुयी 17 गोपाल नीखरा, मंदिर परिसर में विसर्जित होगी। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सदर विधायक प. रवि शर्मा होगें। पत्रकार वार्ता के दौरान संजय नौराही, पीयूष रावत, किशन नौराही, राकेश लाक्षाकार, मनोज नीखरा, महेश अग्रवाल,देवेन्द्र मोदी, आशुतोष साहनी, अमन नौराही, मनमोहन गेडा, शिवा नौराही आदि समिति सदस्य मौजूद रहे।

भगवान जगन्नाथ के रथ खींचने का महत्व
ब्रहमपुराण , नारद पुरांण, पदम पुराण एवं स्कंद पुराण में भगवान श्री जगन्नाथ जी की महिमा का उल्लेख है। परम सौभाग्यशाली व्यक्ति ही भगवान की यात्रा में शामिल होता है। और उससे भी ज्यादा वह भक्त होता है जो भगवान के रथ की रस्सी खींचता है, नगरवासियों को मंदिर से बाहर निकलकर भगवान स्वंय दर्शन देने 14 जुलाई को आ रहे है।