नियमों को ताक पर रख नगर की सड़कों पर जादूगर ने तय किया मौत का अंधा सफर:रिपोर्ट-=आयुष साहू

0
248

-प्रशासन से बगैर अनुमति लिए नगर में किया मौत के खेल का प्रदर्शन

झाँसी। बीते पिछले दिनों से नगर के दीनदयाल सभागार में चल रहा जादूगर का जादू आज उस समय चर्चा में आ गया जब जादूगर ज्ञानेंद्र भार्गव भीडभाड भरी सड़कों पर मोटर साइकिल पर बैठ बिना किसी रूकावट के आंखों पर सैकडों पट्टियां बांधे घूम रहे थे |
जादूगर के साथ सैकडो कलाकार अपने वाहनों पर सवार होकर वाहन को सावधानी पूर्वक चलाये जाने संबंधी लिखे स्लोगनों की पट्टियां हाथों में लिए लगातार आगे बढ़ रहे थे | जादूगर इस रोड शो के माध्यम से मौत का अंधा सफर तय करते हुए युवा पीड़ी को हैलमेट पहनने का संदेश देना चाहते है। जबकि पूरे रोड शो में उन्होंने कही भी हेलमेट का प्रयोग नहीं किया |
जादूगर ज्ञानेन्द्र भार्गव ने आज आंखों पर गीले आटा की पट्टी, उसके ऊपर से कपड़े की कई पट्टियां और उस पर नकाब पहनकर मोटर साईकिल से मौत का अंधा सफर किला मार्ग से होते हुए बीकेडी चौराहा, पठौरिया, गंधीगर का टपरा,बड़ा बाजार, मानिक चौक, मिनर्वा चौराहा, गोविन्द चौराहा, बस स्टैण्ड, सदर बाजार, जेल चौराहा से इलाइट चौराहे से वापस होते हुए दीनदयाल सभागार तक तय किया। यात्रा समाप्ति के दौरान जादूगर ने कहा कि उनका संदेश युवा पीड़ी के लिए है। जो आजकल लगातार यातायात नियमों को ताक पर रखकर अपने जीवन को मौत के मुँह की और ले जा रहे हैं |
प्रशासन की बगैर अनुमति के नगर में घूमा रोड शो
जादूगर द्वारा नगर में किये गए मौत का सफर की किसी भी प्रकार की प्रशासनिक अनुमति नहीं थी | जनपद के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों बात करने पर अधिकारी भी संतोषजनक उत्तर नहीं दे सके |

 

रिपोर्ट-=आयुष साहू